Breaking News
Home / Uncategorized / कभी तो सोच के  देखो?

कभी तो सोच के  देखो?

हेलो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आप सभी अच्छे होंगे |  दोस्तों आपने एक कहावत तो सुनी ही होगी | दूर के ढोल सुहाने | हम अक्सर सोचते हैं कि हमारे दोस्तों या फिर हमारे पड़ोसी की जिंदगी हमसे अच्छी है|  पर लेकिन क्या आपका ऐसा सोचना सही है | इसी बात को समझाने के लिए मैं आपको एक मोटिवेशनल स्टोरी सुनाता हूं कभी तो सोच  के देखो |

raghibparwana@gmail.com

एक व्यक्ति का घर शहर से दूर एक छोटे से गांव में था  | उसके घर में किसी भी प्रकार की कोई कमी नहीं थी |  लेकिन फिर भी वह खुश नहीं रहता था |  उसे लगता था कि शहर की जिंदगी अच्छी है इसलिए एक दिन उसने गांव के घर को बेचकर शहर में घर लेने का फैसला किया | अगले ही दिन उसने शहर से अपने दोस्तों को बुलवाया जो रियल स्टेट में काम करता था  |

उसने अपने दोस्त से कहा- तुम मेरा यह गांव का घर बिकवा दो और मुझे शहर में एक अच्छा सा घर दिलवा दो उसके दोस्त ने घर को देखा और कहा तुम्हारा घर इतना सुंदर है तुम इसे क्यों बेचना चाहते हो अगर तुम्हें पैसों की जरूरत है तो मैं तुम्हें कुछ पैसे दे सकता हूं उस व्यक्ति ने कहा नहीं नहीं मुझे पैसे की जरूरत नहीं है

मैं इस घर को इसलिए बेचना चाहता हूं क्योंकि यह घर गांव से बहुत दूर है यहां पर शहर की तरह पक्की सड़कें भी नहीं है  | यहां के रास्ते बहुत ही उबर खाबर हैं यहां पर बहुत सारे पेड़ पौधे हैं जब हवा चलती है तो पूरे घर में पत्ते फैल जाते हैं यह गांव पहाड़ों से घिरा हुआ है अब तुम ही बताओ मैं शहर क्यों ना जाऊं|

उसके दोस्त ने कहा ठीक– है अगर तूने शहर जाने का सोच ही लिया है | तो मैं जल्दी ही तुम्हारे घर को बिकवा दूंगा अगले ही दिन सुबह के समय वह व्यक्ति अखबार पढ़ रहा था उसने अखबार में घर का विज्ञापन देखा | विज्ञापन में लिखा था

शहर के भीड़भाड़ से दूर, पहाड़ियों से घिरा हुआ, हरियाली से भरा हुआ ,ताजी हवा युक्त एक सुंदर घर में बताएं अपने सपनों का घर घर खरीदने के लिए नीचे दिए गए नंबर पर संपर्क करें विश्व व्यक्ति को विज्ञापन देखते ही घर पसंद आ गया उसने उस घर को खरीदने का मन बनाया|

उसने जब उस नंबर पर फोन किया तो वह हैरान रह गया क्योंकि यह विज्ञापन उसी के घर का था यह जानकर खुशी से झूम उठा उसने अपने दोस्त को फोन लगाया और कहा मैं तो पहले से ही अपने पसंद के घर में रह रहा हूं इसलिए तुम मेरा घर किसी को मत बेचना मैं यहीं रहूंगा|

 

About aaztaknewslive

Aaztaknewslive

Check Also

*किशनगंज कप्तान(एसपी)कुमार आशिष की पहल पर जिले के सभी थाना में लगाएं गए दुरभाष*

जिले के सभी थाना में लगाये गये दूरभाष को पूरी तरह से दुरूस्त कर दिया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *