Breaking News
Home / Fashion / Beauty / AIMIM#बोली आधी आबादी लोकसभा व विश्व में मिलनी चाहिए हिस्सेदारी #KISHANGANJ WOMEN DISTRICT PRESIDENT #DR TARA SWETA #ICON OF BIHAR #NORTH EAST BEAUTY OF WOMEN 2018 #RECEIVED AWARD FOR HEALTH AND EXCELLENCE BY SHRI NAND KISHORE YADAV

AIMIM#बोली आधी आबादी लोकसभा व विश्व में मिलनी चाहिए हिस्सेदारी #KISHANGANJ WOMEN DISTRICT PRESIDENT #DR TARA SWETA #ICON OF BIHAR #NORTH EAST BEAUTY OF WOMEN 2018 #RECEIVED AWARD FOR HEALTH AND EXCELLENCE BY SHRI NAND KISHORE YADAV

AIMIM#बोली आधी आबादी लोकसभा व विश्व में मिलनी चाहिए हिस्सेदारी #KISHANGANJ WOMEN DISTRICT PRESIDENT #DR TARA SWETA #ICON OF BIHAR #NORTH EAST BEAUTY OF WOMEN 2018 #RECEIVED AWARD FOR HEALTH AND EXCELLENCE BY SHRI NAND KISHORE YADAV

किशनगंज : महिला मतदाताओं ने चुनाव में अपनी  प्रभावशाली दस्तक देने में सफल रहे हैं यही वजह है कि सभी राजनीतिक दल महिला चेहरे को चुनाव में आगे कर रहे हैं लेकिन लोकसभा व विधानसभा में प्रतिनिधित्व को महिलाओं को  अभी लंबा सफर तय करने की जरूरत है I जिस तरह की चुनौतियों और भेदभाव  समाज के अन्य क्षेत्रों में महिलाओं को ढोलना पड़ रहा है I राजनीति का क्षेत्र भी इससे अछूता नहीं है I महिलाओं को मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना एक बेहतर संकेत है I

आधी आबादी अब पंचायत स्तरीय राजनीति से इधर लोकसभा व विधानसभा चुनाव में भी अपनी हिस्सेदारी मांग रही है I  पुरुषों के कदम से कदम मिलाकर चल रही आधी आबादी देश की सबसे बड़ी पंचायत में अपनी न्यूनतम भागीदारी पर चिंता भी जाहिर कर रही हैं  और इसके लिए खुद को आगे लाने की कोशिश में जुटी है I चाहे तो गृहस्ती संभाल रही महिलाएं हैं या डॉक्टर या फिर सामाजिक कार्यकर्ता I हर क्षेत्र में अपनी सहभागिता बनाने को आतुर इन महिलाओं की कदम अब रुकने वाली नहीं है I

किशनगंज संसदीय क्षेत्र व जिला अंतर्गत आने वाले 4 विधानसभा क्षेत्रों की चर्चा करते हुए डॉ श्वेता आर्य बताती है कि अब तक तो आधी आबादी ठगी ही गई I अब बारी है हमारी हम वोट के जरिए ना सिर्फ लोकतंत्र को मजबूत करेंगे बल्कि अपनी आधी आबादी के लिए संघर्ष भी करेंगे Iचुनाव दर चुनाव ना सिर्फ मतदान बल्कि हर क्षेत्र में हम आगे बढ़े हैं I अब हम महिलाओं के लिए भी राजनीतिक दलों को  उदार बनना चाहिए और लोकसभा व किशनगंज संसदीय क्षेत्र व जिला अंतर्गत आने वाले 4 विधानसभा क्षेत्रों की चर्चा करते हुए डॉ श्वेता आर्य बताती है कि अब तक तो आधी आबादी ठगी  गई है अब बारी है हमारी,  हम वोट के जरिए ना सिर्फ लोकतंत्र को मजबूत करेंगे बल्कि अपने आधी आबादी के लिए संघर्ष भी करेंगे I

चुनाव दर चुनाव ना सिर्फ मतदान बल्कि हर क्षेत्र में हम आगे बढ़े हैं I अब हम महिलाओं के लिए भी राजनीतिक दलों को उदार बनना चाहिए और लोकसभा वह विधानसभा में महिलाओं की भागीदारी अधिक से अधिक बढ़ाना पर जोर देना चाहिए I मैं बताती है कि चुनाव में महिलाओं के वोट फीसद बड़े हैं I इससे स्पष्ट संकेत मिल रहे हैं कि महिला मतदान के प्रति सजग हुए हैं I लेकिन अभी भी महिला अपने परिवार और समाज को ध्यान में रखकर मतदान कर रही हैं I इस दिशा में भी सुधार की जरूरत है I

राजनीति में महिलाओं की भागीदारी अवश्य बड़ी है I इससे महिलाओं को आत्म सम्मान तो बड़ा है I लेकिन इस दिशा में अभी भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है I तमाम प्रयास के बावजूद महिलाएं पहली पंक्ति में नहीं आ पा रही है I राजनीति में जब तक महिलाओं को बराबरी के हिस्सेदारी नहीं दी जाएगी तब तक परिस्थितियां अनुकूल नहीं हो पाएंगे I

वर्तमान राजनीति में महिला मतदाताओं ने अपनी काबिलियत दिखाने में सफल रही है जिस वजह से सभी राजनीतिक दल महिलाओं को लोकसभा चुनाव टिकट दे रहे हैं अब तो महिला नेत्री चुनाव प्रचार प्रसार में भी शामिल होने लगी है बावजूद प्रत्याशी बनाने से राजनीतिक दल चल रहे हैं इसमें बदलाव लाना जरूरी हैंI

 देखा जाए तो महिलाएं मतदाताओं को लुभाने के लिए हर संभव कार्य किए जा रहे हैं I हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव में पुरुष मतदाताओं की संख्या 8,55,667 और महिला मतदाताओं की संख्या 797215 है वर्तमान समय में पुरुष की अपेक्षा महिला मतदाताओं की संख्या में बहुत अंतर नहीं है I

महिला मतदाताओं को लुभाने के लिए सभी दल कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं समय-समय पर क्षेत्रीय और राष्ट्रीय दलों ने अपनी घोषणा पत्र में महिलाओं को उचित स्थान दिया है बावजूद देश के सबसे बड़े पंचायत में हिस्सेदारी देने से हिचकी हैं I लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए I

विधानसभा क्षेत्र >> पुरुष >> महिला>>

बहादुरगंज>>>>146655>>136875

इसी तरह वर्तमान राजनीतिक में महिला मतदाताओं में अपनी काबिलियत दिखाने में सफल रही हैं I जिस वजह से सभी राजनीतिक दल महिलाओं को लोकसभा चुनाव टिकट दे रहे हैं I अब तो महिला नेत्री चुनाव प्रचार प्रसार में भी शामिल होने लगी है I बावजूद प्रत्याशी बनाने से राजनीतिक दल रहे हैं I इसमें बदलाव लाना जरूरी है I

देखा जाए तो महिला मतदाताओं को लुभाने के लिए हर संभव कार्य किए जा रहे हैं हालांकि 2019 के चुनाव में पुरुष मतदाताओं की संख्या8,55,667 और महिला मतदाताओं की संख्या 797215 है I वर्तमान समय में पुरुषों की अपेक्षा महिला मतदाताओं की संख्या में बहुत अंतर नहीं हैI महिला मतदाताओं को लुभाने के लिए सभी दल कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं I समय-समय पर क्षेत्रीय और राष्ट्रीय दलों ने अपने घोषणा पत्र में महिलाओं को विशेष स्थान दिया है बावजूद देश में राज्य के सबसे बड़े पंचायत में हिस्सेदारी देने से हिचकीचाते हैं I लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए I

विधानसभा क्षेत्र >> पुरुष >> महिला

बहादुरगंज >>>>146655>>136875

ठाकुरगंज >>>>145125>>136893>>

किशनगंज >>>>143187>>140012>>

कोचाधामन >>>>123223>>115154>>

AMOOR>>>>157705>>141479>>

बायसी >>>>139772>>126802>>

कुल योग >>>>855667>>797215

किशनगंज संसदीय लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अंतर्गत विधानसभावार मतदाताओं की संख्या

डॉक्टर तारा श्वेता आर्य जागरण

About aaztaknewslive

Aaztaknewslive

Check Also

यूपी में होने वाले उपचुनाव को लेकर Aimim ने किया बड़ा ऐलान,कार्यकर्ताओं में भरा जोश,फैसले का किया स्वागत

यूपी में होने वाले उपचुनाव को लेकर Aimim ने किया बड़ा ऐलान,कार्यकर्ताओं में भरा जोश,फैसले …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *